जानिए कौन थे लाफिंग बुद्धा और कैसे बने लोगो के घरो का हिस्सा

0

बाज़ार में किसी भी गिफ्ट शॉप पर चले जाओ दुकानदार गिफ्ट आइटम्स में एक मूर्ति जुरूर दिखाता है और  वो मूर्ति एक पेट वाले हस्ते हुए व्यक्ति की है जिसका हाथ या तो सर पर है या फिर हाथ में टोकरी है या फिर ओर  कुछ है लेकिन उनके चेहरे पर खूब हंसी है जिसे देखते ही आदमी आकर्षित होने लगता है और वो मूर्ति है laughing buddha  की.

भारत, चीन और जापान जैसे कई देशो में laughing buddha को घर में रखना शुभ माना जाता है. कहा जाता है कि इनके घर में होने से सुख-समृधि और हंसी पुरे घर में बनी रहती है. साथ ही कई लोगो का मानना है यह मूर्ति अपने पैसे से नही खरीदनी चाहिए, इसे गिफ्ट के तौर पर ही किसी को देना चाहिए क्योकि यह गुड लक यानि अच्छे भाग्य का प्रतिक माना जाता है. तो अब सवाल आता है कि कौन थे ये लाफिंग बुद्धा और कैसे ये गिफ्ट शॉप और फिर लोगो के घरो तक पहुंचे?

history of laughing buddha in hindi

 

History of laughing buddha in hindi – कौन थे लाफिंग बुद्धा

Story behind laughing buddha in hindi – लाफिंग बुद्धा की कहानी 

महात्मा बुद्ध के एक जापानी शिष्य हुआ करते थे जिनका नाम था होतई. माना जाता है कि होतई ज्ञान प्राप्त करने के बाद जोर जोर से हंसने लगे और उसके बाद हँसना और लोगो को हँसाना या हँसते हुए देखना उन्होंने अपनी जिन्दगी का लक्ष्य बना लिया. इसी हंसी के कारण जापान और चीन में लोग उन्हें लाफिंग बुद्धा कहने लगे जिसका अनुवाद  हिंदी में हँसता हुआ बुद्धा है. होतई के अनुयायी भी इसी मार्ग पर चले. उन्होंने भी दुनिया के सभी लोगो को हँसता हुआ देखना अपना एकमात्र लक्ष्य बना लिया. और laughing buddha की इस हंसी को दुनिया में फ़ैलाने लगे. चीन में होतई को पुताई नाम से जाना जाता है और इन्हें फेंग शुई भगवान माना जाता है जिसका मतलब है अच्छे भाग्य का देवता. चीनी लोगो का मानना है फेंग शुई  की वस्तुए घर में रखने से अच्छा भाग्य, सुख-समृधि और सकारात्मक उर्जा आती है.

 

story of laughing buddha in hindi

 

जैसे हिन्दुस्तान में कई अलग अलग मान्यताएं है वैसे ही चीन और जापान के लोगो की भी अपने भगवान और परम्पराओ को लेकर कई मान्यताएं है और ये लाफिंग बुद्धा चीन और जापान की संस्कृति और मान्यताओं का हिस्सा है जिसे भारत में भी कई लोगो ने अपनाया है.

तो दोस्तो आपको हमारा यह आर्टिक्ल कैसा लगा हमे कमेंट के जरिये जरूर बताएं। और हाँ दोस्तो अगर आप हमारे ऐसे ही मजेदार आर्टिक्ल की सभी नोटिफ़िकेशन पाना चाहते है तो हमे subscribe जरूर करें और हमारे साथ जुड़े रहने के लिए हमारा facebook page लाइक करें।

 

यह भी पड़े 

मंदिरो मे घंटिया होने के पीछे क्या है वैज्ञानिक महत्व

भारत के पांच अद्भुत और चमत्कारिक स्थान

जानिये मिस्त्र के पिरामिड क्या है और ये कैसे बनाये जाते थे

जानिए कर्नाटक के sanskrit village के बारे में mattur village in hindi

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here