The mystical number nine – significance of number 9 in hinduism

बाते करें number 9  की तो यह  Single digit Number में सबसे बड़ा नंबर है. संख्या नौ  अक्सर रहस्यमय विचारों और प्राचीन काल से दुनिया भर के धर्मों में एक दैवीय अर्थ के साथ जुड़ा हुआ है। इस रहस्यमय नौ में दोनों, नकारात्मकता और सकारात्मकता है! कई लोग 9 नंबर  को अपने ‘भाग्यशाली नंबर’ के रूप में देखते है.  हिंदू धर्म में संख्या 9 का स्थान सबसे बड़ा और महत्वपूर्ण है.  या ये कहे की संख्या 9 अपने आप में पूरा सार है.  जानते है कैसे???? अगर नहीं तो हम बताते है. इस आर्टिकल में हम number 9 से जुड़े कुछ रोचक facts बताएँगे जो आपको हैरान कर देंगे. तो आइये जानते है

 

The mystical number nine – Importance of Number 9 in Hinduism

 

अगर आप किसी भी पूर्ण संख्या (शून्य को छोड़कर) से 9 गुणा करते हैं, और बार-बार उत्तर के अंक जोड़ते हैं, जब तक कि यह one डिजिट  न हो, आपको 9 प्राप्त होगा :

3 × 9 = 27 (2 + 7 = 9)

8 × 9 = 72  (7 + 2 = 9)

15 × 9 = 135 (1 + 3 + 5 = 9)

121 × 9 = 1089 (1 + 0 + 8 + 9 = 18; 1 + 8 = 9)

234 × 9 = 2106 (2 + 1 + 0 + 6 = 9)

578329 × 9 = 5204961 (5 + 2 + 0 + 4 + 9 + 6 + 1 = 27; 2 + 7 = 9)

 

9 number significance

 

भारतीय पौराणिक कथाओं के अनुसार, चार युग हैं

 

सत्यगु – अवधि  172,800 वर्ष (1 7 2 8) = 18 = (1 8 = 9)

 

त्रेतायुग  – अवधि  12 9 6,000 वर्ष (1 2 9 6) = 18 = (1 8 = 9)

 

द्वापरयुग – अवधि  864000 साल (8 4 6) = 18 = (1 8 = 9)

 

कलयुग  – अवधि  432000 साल (4 3 2) = 9

 

 

हिंदू दर्शन के अनुसार सार्वभौमिक तत्वों के संख्या 9  हैं:  पृथ्वी, जल, वायु, अग्नि, ईथर, समय, अंतरिक्ष, आत्मा, और मन।

 

 

हिन्दू धर्मग्रंथो के अनुसार पुराणों की संख्या 18  है (1 + 8 )  –  ब्रह्म पुराण, पद्म पुराण, विष्णु पुराण, वायु पुराण , शिव पुराण भागवत पुराण ,  नारद पुराण, मार्कण्डेय पुराण, अग्नि पुराण भविष्य पुराण ब्रह्म वैवर्त पुराण, लिङ्ग पुराण, वाराह पुराण, स्कन्द पुराण, वामन पुराण, कूर्म पुराण,  मत्स्य पुराण, गरुड़ पुराण,  ब्रह्माण्ड पुराण

 

 

नवरात्रि नौ दिन मनाया जाता है  जो कि दुर्गा के नौ रूपों को समर्पित है।

 

 

ग्रहो की सख्या 9 है.

 

 

महाभारत के अनुसार महाभारत का युद्ध 18 (1+8) दिनों तक चला

 

 

भगवद् गीता में 18  अध्याय है

 

 

भारतीय सौंदर्यशास्त्र में, नौ प्रकार के रस (emotions) हैं –  शृंगार रस (love),  हास्य रस (laughter),   करुण रस (kind-heartedness) ,रौद्र रस (anger) , वीर रस ( courage) , भयानक रस (terror), वीभत्स रस (disgust), अद्भुत रस (surprise) और शांत रस (peace)

 

 

एक बच्चा अपनी माँ के गर्भ में 9 महीने तक रहता है.

 

 

एक circle की डिग्री 360 होती है  (3 6=9).

 

 

दोस्तों उम्मीद करते है number 9 से जुडी  मजेदार बाते आपको पसंद आई होंगी. कृपया इन्हें शेयर करे. अगर आप इसी तरह के मजेदार आर्टिकल सीधे अपने मेल में पाना चाहते है तो हमें फ्री subscribe करना न भूलें.

 

और भी जाने

वृश्चिक राशि वाले लोगो का स्वाभाव Scorpio personality in hindi

जानिए कितने बुद्धिमान है आप… Signs of intelligent person in hindi

जानिए क्या है ‘’A’’ नाम वाले लोगो में खास first letter name personality in hindi

जानिए मिथुन राशि वाले लोगो की पर्सनालिटी Gemini personality traits in hindi

जानिए B नाम वाले लोगो की पर्सनालिटी – Alphabet ‘’B’’ personality in hindi

Leave a Reply