बाप रे!!! छोटा सा नियम तोडा और इतनी बड़ी सजा.. Importance of self discipline

दोस्तों हम सब अपने लिए कुछ रूल्स या नियम बनाते है ताकि हम उनके मुताबिक चल सके और अपने छोटे बड़े काम सही ढंग से करे. लेकिन क्या हम में से ज्यादातर लोग खुद के ही बनाये नियम या सीधे कहे self discipline  को follow कर पाते है?? हम अक्सर किसी डायरी का कागज के पन्ने पर अपने लिए कुछ टारगेट्स तय करते है लेकिन क्या हम उन्हें पूरा करना की कोशिश करते है?? ज्यादातर का जवाब होगा कभी कभार या नहीं.  होता क्या है हम अक्सर खुद के बनाये हुए छोटे छोटे नियम या self discipline तोड़ते रहते है और मज़े में कह देते है जो होगा देखा जाएगा… फिर हम एक के बाद एक नियम तोड़ने लगेते है और उसे अपनी आदत बना लेते है क्या आपने कभी सोचा है की ये खुद से किये गए वादे या खुद के लिए बनाये गए नियम तोड़ने का क्या परिणाम हो सकता है शायद नही!!

आज हम आपको एक सच्ची कहानी के माध्यम से से बताने की कोशिश करते है की कैसे एक छोटे से नियम ने इतिहास की रुपरेखा को बदल कर रख दिया…

 

Importance of self discipline in hindi

 

एक महान योद्धा नेपोलियन का मानना था की खाना खाने के बाद आदमी सुस्त हो जाता है और उसके सोचने की शक्ति कम हो जाती है इसलिए उसका एक नियम था की युद्ध की रात वो खाना नही खायेगा . नेपोलियन ने कई युद्ध लडे और जीते . उसकी जीत का राज था समय का अनुशासन/ self discipline .

एक दिन बेल्जियम में नेपोलियन अपनी सेना की टुकड़ी का इंतज़ार कर रहा था और घोड़े पर बैठ कर चारो और नज़र रखे हुए था क्योंकि उसकी सेना की टुकड़ी वहा पहुचने ही वाली थी. इंतज़ार लम्बा होता जा रहा था इसलिए उसने खाना खा लिया और खाने के बाद इंतज़ार करने की सोची. खाना खाने के बाद उसे नींद की झपकी लग गई… दूसरी तरफ इंग्लॅण्ड के सेनापति ने दूरबीन से  देखा की नेपोलियन दिखाई नही दे रहा मतलब आराम कर रहा होगा. और इग्लैंड की सेना ने उस पर हमला बोल दिया है..

इतने में सेना की टुकड़ी नेपोलियन के पास पहुच चुकी थी पर नेपोलियन को आराम करता देखा सेना ने उसे उठाना ठीक नही समझा…सैनिक टुकड़ी ने दूर से एक और टुकड़ी को आते देखा और उनके लगा की नेपोलियन उनका इंतज़ार कर रहा होगा जब वो टुकड़ी आ जाएगी तब उसे जगा देंगे.

लेकिन वो दूसरी सेना इंग्लॅण्ड की थी और उसने नेपोलियन को सोता देख बंदी बना लिया. कुछ देर बाद नेपोलियन की दूसरी सेना वहा पहुची लेकिन तब तक नेपोलियन बंदी बन गया था

1815 में नेपोलियन बेल्जियम में इंग्लॅण्ड की सेना के हाथो बंदी बन गया…

 

जरा इस बात पर  सोचिये की नेपोलियन का नियम तोड़ कर खाना खाना उसे कितना भारी साबित हुआ…ये नेपोलियन का ही बनाया गया नियम/ self discipline था की वो युद्ध वाली रातो को खाना नही खायेगा… और आज उस तोड़े गए छोटे से नियम ने इतिहास का रुख बदल दिया है….

 

दोस्तों ऐसा नहीं है की अपने बनाये गए सभी नियमो का हमेशा पालन ही करना चाहिए लेकिन एक एक करके जब हम सभी नियमो का अनदेखा करना शुरू कर देते है तो यह हमारी आदत बन जाती है जिससे न सिर्फ self discipline खत्म होता है बल्कि आत्म विश्वास भी कमजोर होता है. जिन्दगी में सफलता पाने के लिए हर इंसान के कुछ पैमाने होने चाहिए जिनके पद चिन्हों पर चलकर बिना भटके अपनी मंजिल पर पंहुचा जा सके.

 

तो दोस्तों आपका यह पोस्ट कैसा लगा हमे जरुर बताये. साथ ही हमेशा की तरह शेयर करना न भूले. Have a nice day

One Response

  1. Ayushman February 10, 2018

Leave a Reply