जानिए क्यों और कैसे हुई ओलम्पिक खेलो की शुरुआत

खेलो का सबसे बड़ा त्यौहार है ओलम्पिक खेल. ओलम्पिक के आते ही सभी देशो की निगाहे और उम्मीदे अपने अपने देश के खिलाडियों पर लग जाती है. ओर आखिर ऐसा हो भी क्यों न, ओलम्पिक में खिलाडियों द्वारा जीते गये पदक सिर्फ खिलाडियों का ही नहीं बल्कि पुरे देश का नाम गर्व से उचा करते है. यह सिर्फ एक खेलो का संगम नहीं बल्कि सभी देशो को खेलो के माध्यम से जोड़ने का एक मंच है. लेकिन क्या आपके मन में कभी यह सवाल आया है की आखिर पहली बार Olympic Games की शुरुवात कब हुई? किस वजह से से Olympic Games खेले जाने लगे? इस सवाल का जवाब भी अपने आप में रोचक है ? जी हाँ दोस्तों आपको यह जानकर हैरानी होगी की Olympic Games सबसे पहले 776 BC में ग्रीस की ओलंपिया घाटी में शुरू हुए थे यानी की ईसा मसीह के जन्म से 776 साल पहले. इसके बार में कोई निश्चित प्रमाण नहीं मिलते है लेकिन इसके पीछे कई यूनानी मान्यताएं है. तो आइये जानते है

 

ओलम्पिक खेल का इतिहास – history of Olympic Games in hindi

 

कई विद्वानों के अनुसार प्राचीन ग्रीस निवासी ज़्यूस को अपना देवता मानते थे. ज़्यूस प्राचीन यूनानी धर्म के सर्वोच्च देवता थे. एक बार ग्रीस की ओलंपिया घाटी के मैदान में ज़्यूस प्रकट हुए. उनके भयंकर क्रोध से धरती फट गई. तब अपने देवता को शांत करने के लिए वहां के लोगो ने ओलंपिया घाटी में एक मंदिर का निर्माण करवाया. बाद में ज़्यूस के पुत्र हरकुलिस ने अपने पिता के सम्मान में खेलो की शुरुआत की जिसे ओलम्पिक खेलो के नाम से जाना जाता था.

 

एक अन्य कहानी के अनुसार हरकुलिस को उसके बुरे कर्मो की सजा के तौर पर उसे एलिस के राजा आंगियास के तबेले की सफाई की सजा दी गई. हरकुलिस ने अपने राजा आंगियास के सामने शर्त रखी की अगर वह यह सजा पूरी कर लेगा तो राजा को उसे अपनी पशु सम्पदा का 10वा भाग देना होगा. राजा ने शर्ते मान ली. इसके बाद हरकुलिस ने आल्फियस नदी का प्रवाह तबेले की ओर मोड़ दिया जिससे तबेले की सफाई अपने आप ही हो गई. लेकिन राजा ने अपनी शर्ते मानने से मना कर दिया. तब हरकुलिस ने राजा आंगियास की हत्या कर दी और खुद राजा बन गया. हरकुलिस ने हत्या के प्रायश्चित करने का फैसला किया और पहली बार ओलम्पिक खेलो का आयोजन करवाया.

 

ग्रीस की अन्य कहानियों के अनुसार देवी देवताओ की धरती पर अधिकार को लेकर कुश्ती हुई. यह कुश्तो दो देवताओ ज़्यूस और क्रोनोस के बीच हुई जिसमे ज़्यूस की जीत हुई. इस विजय की ख़ुशी को मानने के लिए ओलम्पिक का आयोजन किया जाने लगा.

यह खेल लगभग एक हज़ार सालो तक ग्रीस में आयोजित होते रहे लेकिन 394 इसवी में रोम के राजा theodosius ने ओलम्पिक खेलो को बंद करवा दिया. उसके बाद 1896 में Olympic Games को दुबारा ग्रीस की राजधानी एथेंस में आयोजित किया. तब से लेकर आज तक यह खेल हर चार वर्षो के बाद अलग अलग देशो में आयोजित किये जाते है.

 

दोस्तों उम्मीद करते है आपको यह रोचक आर्टिकल पसंद आया होगा. इसे जरुर शेयर करें. अगर आप भी हमारे आने वाले सभी आर्टिकल्स को सीधे अपने मेल में पाना चाहते है तो हमें फ्री सब्सक्राइब जरुर करें और फेसबुक पर हमारा पेज लाइक करें.

 

यह भी पढ़े.

जानिए कैसे हुआ राजनीति में लेफ्ट और राईट विचारधारा का जन्म

क्या है बरमूडा त्रिकोण में घटने वाली घटनाओ के पीछे कारण

जानिये पोरस और उनके बहादुरी के किस्सों के बारे में

जानिए कैसे लिखा जाता है इतिहास और क्या है इसके अध्यन के स्रोत

Leave a Reply