Motivational story of Stephen hawking in hindi स्टीफन हॉकिंग की प्रेरणादायक कहानी

इन्सान अगर ठान ले तो मौत को भी मात दे सकता है और ये कोई चमत्कार नही बल्कि इच्छा शक्ति के जरिये सम्भव है. इच्छा शक्ति से इन्सान कुछ भी पा सकता है. ये बात केवल हम ही नही पूरी दुनिया मानती है. इसके कई उदाहरण आपको मिल जाएगे जिसमे से एक हम आपसे साँझा करने जा रहे है… और ये है दुनियां के महान विज्ञानिक Stephen Hawking की कहानी. यह कहानी एक ऐसे शख्स ही है जिन्होंने wheelchair पर बैठे बैठे कई कीर्तिमान रच दिए. उम्मीद करते है यह कहानी आपको motivate और inspire करेगी और मुश्किलों से सामना करने के लिए हिम्मत देगी.

 

Motivational story of Stephen hawking in hindi – स्टीफन हॉकिंग की प्रेरणादायक कहानी

 

“मैं अभी और जीना चाहता हूँ” ये शब्द है वैज्ञानिक Stephen Hawking के  जिन्होंने अपने  70वें जन्मदिन पर यह इच्छा जाहिर की. क्या आप जानते है इनकी उम्र डॉक्टर्स ने ज्यादा से ज्यादा 25 साल बताई थी. दरअसल Stephen Hawking बचपन से ही बहुत तेज दिमाग के थे और अपनी बात को लोगो तक पहुचाने में भी बहुत कामियाब थे और उस समय वह मैथ जैसे सब्जेक्ट में बहुत रूचि रखते थे. फिर बाद में उन्होंने फिजिक्स को चुना और ऑक्सफ़ोर्ड युनिवेर्सिटी से पी.एच.डी. पूरी की .

जब वो 21 साल के थे तो एक दिन सीढियों से उतरते समय वे बेहोश हो गए. शुरू में डॉक्टर ने इसे कमजोरी के कारण होने वाली साधारण सी बेहोशी बताया लेकिन बार बार ऐसा होने पर ठीक से चेक अप करवाने पर पता चला की वह एक ऐसी बीमारी के शिकार है जो कभी ठीक नही हो सकती. उन्हें neuron motor disease नामक एक बीमारी है जिसमे धीरे- धीरे शरीर के सारे अंग काम करना बंद कर देते है और अंत में श्वास नली भी बंद हो जाती है और व्यक्ति की मृत्यु हो जाती है.

 

डॉक्टर ने Stephen Hawking को 2-4 साल का महमान बताया. यानि जल्द ही उनके शरीर के सारे अंग काम करना बंद कर देंगे. उसी समय Stephen Hawking ने कहा की वह 50 साल अभी और जियेंगे. इस बात पर उनके सभी दोस्तों ने उनका दिल रखने के लिए उनकी हां में हां मिला दिया क्योकि वो भी Stephen Hawking की इच्छा शक्ति को पहचान नही पाए थे.

 

Stephen Hawking ने जो कहा वो कर दिखाया और उस बीमारी के साथ ही उन्होंने अपनी पी.एच.डी. पूरी की और शादी भी की, तब तक उनके शरीर के दाहिने हिस्से ने काम करना बंद कर दिया था लेकिन यह वो समय था जब उन्होंने विज्ञानं की दुनिया में कदम रखा तो अपने शोधो से दुनिया में प्रसिद्ध होने लगे. धीरे धीरे शरीर ने साथ देना छोड़ दिया. लेकिन दिमाग पूरी तरह से एक्टिव रहा और वो रुके नही.

Hawking ने दुनिया को ब्लैक होल कांसेप्ट से रु-ब-रु करवाया और यह भी कहा की समय की यात्रा संभव है लेकिन वह अभी व्यावहारिक नही है यानि हम पिछले समय में जा सकते है लेकिन अभी ये पूर्ण रूप से संभव नही है और केवेल एक थ्योरी है. उनकी लिखी गई किताब A Brief History of Time by Stephen Hawking ने दुनिया भर के वैज्ञानिको को सोचने पर मजबूर कर दिया. और विज्ञानं की दुनिया में तहलका मचा दिया.

 

जरा सोचिये एक व्यक्ति में अपने इच्छा शक्ति के जरिये कुर्सी पर बैठे बैठे ही पूरी दुनिया को हिला दिया. जिस व्यक्ति को डॉक्टर ने कह दिया हो की वह अब 2-4 साल का महमान है वो तो आधा वही मर जाएगा. लेकिन Stephen Hawking उन लोगो में से है जिसने इन परिस्थितियों में विज्ञानं को चुनोती दी और वो आज भी जीने की इच्छा रखते है…

 

दोस्तों परेशानियाँ हर किसी के जीवन में आती है लेकिन यह हम पर है की हम उनसे कैसे निपटते है. कुछ लोग घबराकर हार मान लेते है तो कुछ उन परिस्तिथियों से लड़कर अपनी जिन्दगी को एक नई दिशा दे देते है.

 

उम्मीद करते है आपको यह स्टोरी पसंद आई होगी. आप अपने विचार हमें कमेंट्स के जरिये जरुर बताये. हमारे आने वाले सभी आर्टिकल्स की जानकारी सीधे अपने मेल में पाने के लिए हमें फ्री सब्सक्राइब करें और हमारा फेसबुक पेज लाइक करें. Keep visiting gazab baat.

 

कामयाबी की एक मिसाल story of Catherine Lanigan in hindi

बकरा शादी और बुजुर्ग की चतुराई – moral story in hindi

क्या सच में अहंकार इन्सान को ले डूबता है… TRUTH BEHIND EGO

बाप रे!!! छोटा सा नियम तोडा और इतनी बड़ी सजा.. Importance of self discipline

मन से जुड़े होते है मन के तार.. राजा और लकड़हारे की कहानी

2 Comments

  1. Chandan Kumar September 22, 2017
  2. Dharam March 29, 2018

Leave a Reply