बातचीत करते समय “और बताओ” जैसे सवालों से कैसे बचे???

“और बताओ” …”बस सब बढ़िया आप बताओ”  जब हम किसी अंजान व्यक्ति या नए दोस्त से बात करते है तो इन शब्दों पर हमारी बातचीत रुक जाती है. “और बताओ” जैसा प्रश्न बहुत ही आम हो गया है और जब सामने वाला ये शब्द कहता है तो हमे कई बार गुस्सा भी आता है और कई बार हमे चिड होने लगती है.

इस लेख में हम कुछ बिंदु बिन्दुओ को रखेगे जिससे ये सवाल कभी आपकी बातचीत के बीच में नही आयेगा और अगर आ भी जाता है तो इसका जवाब आपके पास होगा. इन बिन्दुओ को अगर आप अपने व्यवहार में शामिल कर लेंगे तो आपकी बातो का कभी अंत नही होगा और साथ ही आपकी communication skills भी बढेगी. तो आइये जानते है

 

बातचीत करते समय “और बताओ” जैसे सवालों से कैसे बचे – communication skills in hindi 

 

बातचीत

 

क्वालिटी टॉक – quality talk

 

जब आप किसी से बात करें  तो आपकी बात में वजन होना चाहिए. यानी बेकार के शब्दों का इस्तमाल न करे. जैसे hmm, ok, you know, Normaly आदि. ये कुछ ऐसे शब्द है जो दर्शाते है कि आपके पास बात करने  के को कोई टॉपिक नही है और आप बिलकुल  भी दिलचस्प इन्सान नही है या आप बात नही करना चाहते.

 

 

वाक्यों का चयन — selection of sentences

 

जब आप किसी से बात करते हो तो आपकी बातचीत में एक सही ठहराव होना जरुरी है यानी किसी वाक्य को कैसे बोलना है वाक्य के किस शब्द पर ज्यादा जोर देना है आदि. आपके वाक्यों का चयन आपकी बातचीत निर्धारित करता है कि वह कितनी देर तक चलेगी. जैसे मान लो आपको अपने ऑफिस से निकलने में देर हो गई है और अब घर पहुचने के लिए कोई पब्लिक ट्रासंपोर्ट आपको नही मिलेगा. और ये बात आपने अपने बॉस से कही. तो आपका बॉस आपको दो तरीको से जवाब दे सकता है 1. आप चिंता मत करो, आपको घर छुडवा दिया जाएगा. और 2. आप चिंता मर करो, राहुल आपको घर छोड़ देगा,

पहले तरीके का जवाब सुन कर आप निश्चिन्त हो जाएगे लेकिन दुसरे तरके का जवाब आपके मन में जिज्ञासा पैदा कर देगा कि राहुल कौन है, क्या ये मुझे सही सलामत घर छोड़ देगा या नही आदि आदि..

 

 

सवालों कि जगह स्टेटमेंट्स का यूज़ करें – use of statements instead of question

 

जब हम किसी अंजान से बात करते है तो सीधा सवाल पर सवाल करते है इससे सामने वाले को लगता है कि ये मेरा इंटरव्यू ले रहा है और बातचीत एक तरफ़ा हो जाती है  इसलिए सीधा सवाल न कर के स्टेटमेंट्स का इस्तेमाल करे या कह सकते है सीधा सवाल न कर के घुमा फिरा कर सवाल पूछे. अब इसके दो तरके होते है एक होता है अंदाज़ा लगा कर और दूसरा होता है कहानी बना कर.

एक तो आप सीधा सवाल पूछ सकते हो जैसे कि “आपको खाने में क्या अच्छा लगता है? या फिर आप अंदाज़ा लगा सकते हो और कह सकते हो कि मुझे पिज़्ज़ा खाना में बहुत अच्छा लगता है स्पेसिअली डोमिनोस का. क्या तुम्हे भी अच्छा लगता है? अब आपने यहाँ पर अंदाज़ा लगाया कि सामने वाले को पिज़्ज़ा अच्छा लगता होगा और अगर आपका अंदाज़ा सही होता है तो आप और करीब आ जाते हो और अगर सही नही है तो सामने वाला आपको करेक्ट करता है.

दूसरा कहानी बना कर बात करना. जैसे कि “आपको किस चीज़ से डर लगता है” ये तो हो गया एक सीधे तरीके से पूछा गया सवाल आप इसको कहानी बना कर भी पूछ सकते हो जैसे “बचपन में मुझे अंधरे से बहुत डर लगता था. इतना कि मैं अपने रूम कि लाइट जलाकर सोता था और अब आदत ऐसी हो गई है कि लाइट बंद हो या चालू मुझे नींद आ जाती है”  इस एक स्टोरी से आपके पास कई शब्द आ जाए जिस पर आप बात कर सकते हो जैसे बचपन, अँधेरा, डर नींद आदि और इन सबसे जुड़े अनुभव अपने आप ही आप से साँझा करने लगेगा.

 

 

जवाब से ही आगे के सवाल तय होते है  — one question decides the other question

 

इस बात में कोई शक नही है कि “और बताओ” जैसे सवाल आपके पिछले दिए गए जवाब से ही निकल कर आपके सामने आता है. इसलिए अपने जवाबो को थोडा दिलचस्प बनाये. ये काफी महत्व रखता है कि आपका जवाब जितना दिलचस्प होगा  उतनी आपकी बातचीत लम्बी और अच्छी होगी. जैसे जब हम किसी किसी अंजान या नए दोस्त से बात करते है और दूसरा या तीसरा सवाल हमारा यही होता है कि “आप कहा से हो”? अब सामने से ये जवाब आत है “मैं दिल्ली से हूँ और आप” अब आप कह सकते है “मैं मुंबई से हूँ” और अगर आप यह कहते है तो शायद आपकी बातचीत जल्दी खत्म हो जाएगी और यदि आप कहते है कि वैसे तो मैं नवाबो के शहर लखनऊ से हूँ लेकिन कई सालो से मुंबई में रह रहा हूँ क्योकि यहाँ कि हवा कि बात ही अलग है.

इस तरीके से जवाब देने से सामने वाले को कुछ और सवाल करने का मौका मिल जाता है और आपकी बातचीत में कुछ वज़न आने लगता है जिससे “और बताओ” जैसे सवालों का सामना नही करना पड़ता.

 

दोस्तों उम्मीद करते है आपको यह आर्टिकल पसंद आया होगा. अगर आपका कोई सवाल या सुझाव हो तो कृपया comments करें. और हमारे आने वाले सभी आर्टिकल्स को सीधे अपने मेल में पाने के लिए हमें फ्री subscribe करें.

 

यह भी जाने 

अपने पार्टनर की वो बातें जो दोस्तों से छुपानी जरुरी है.

लम्बे समय से सिंगल रह रही लड़की का दिल कैसे जीते

क्या आपका रिलेशनशिप मैच्योर है…signs of mature relationship in hindi

ये काम जिंदगी में जरुर करने चाहिए…interesting things must be do in life

Leave a Reply