विटामिन क्यो जरूरी है और इन्हे ना लेना क्यो पड़ सकता है भारी

दोस्तो विटामिन हमारे शरीर के लिये काफी जरूरी होते है ये ना सिर्फ हमारे शरीर की बीमारियो से रक्षा करते है बल्कि हमारी हड्डियों, दाँतो और आंखो को भी स्वस्थ रखते है। विटामिन कार्बोनिक यौगिक तत्व होते है और शरीर के मेटाबोलिज्म मे रासायनिक प्रतिक्रिया को विनियमित करने मे महत्वपूर्ण होते है। विटामिन खाने से प्राप्त किये जाते है लेकिन कुछ का निर्माण शरीर खुद कर लेता है जैसे विटामिन k तो एक विटामिन ऐसा है जिसे सूर्य की किरणों से प्राप्त किया जाता है जैसे विटामिन D, इसे सनशाइन विटामिन भी कहते है। कई तरह के विटामिन होते है जैसे vitamin A, vitamin C, vitamin D, vitamin E, vitamin K, इसके अलावा vitamin B complex जो की कई सारे बी विटामिन का ग्रुप है। इन सभी विटामिन के अपने अपने कार्य है और ये हमे कई तरह की बीमारियो से बचाते है। इसलिये हमारे भोजन मे विटामिन का होना बहुत जरूरी है जिनकी कमी से कई तरह के रोग होने का खतरा रहता है। तो इसलिये दोस्तो आज हम बात करेंगे की विटामिन कहा से ले और इनकी कमी से कौन से रोग होने की संभावना रहती है।

हमारे शरीर के लिये विटामिन के फायदे benefits of vitamins in hindi

हमारे शरीर को विटामिन की आवश्यकता होती है, 13 विटामिन होते है और हर विटामिन के अपने ही फायदे होते है।विटामिन A को आंखो के लिये और त्वचा के लिये अच्छा माना जाता है, विटामिन सी बीमारियो को हमारे शरीर से दूर रखता है, विटामिन D हड्डियों और दाँतो को मजबूत करता है,विटामिन E शरीर की कोशिकाओ को नुकसान होने से बचाता है, विटामिन k ये हड्डियों के स्वास्थ्य, घांव को ठीक करने और खून का थक्का जमाने मे भी इस विटामिन की अहम भूमिका रहती है।

विटामिन बी कॉम्प्लेक्स के फायदे benefits of vitamin b complex

विटामिन बी कॉम्प्लेक्स आठ विटामिनो को मिलाकर बनता है

विटामिन B1 इसे थियामाइन भी कहते है – नयी कोशिकाओ का निर्माण करना, कार्बोहाईडरेट को तोड़ना, मेटाबोलिज्म मे मदद करना

विटामिन B2     इसे राइबोफ्लेविन भी कहते है  – फ्री रेडिकल्स से लड़ना, लाल रक्त कोशीकाओ का निर्माण, ह्रदय की सुरक्षा करना। 

विटामिन B3  इसे पैंटोथैनिक एसिड भी कहते है – बैड कोलेस्ट्रोल घटाना और गुड कोलेस्ट्रोल को बूस्ट करना।

विटामिन B5  इसे नियासीन भी कहते है – फैटस और कार्ब्स को तोड़कर उसे ऊर्जा मे बदलना

विटामिन B6  इसे पाइरीडॉक्सिन भी कहते है  – सूजन घटाना, अनीमिया दूर करना,

विटामिन B7  इसे बायोटीन भी कहते है – बालो, त्वचा और नाखूनो को स्वस्थ रखना।

विटामिन B9  इसे फॉलिक एसिड भी कहते है – डिप्रेशन दूर करना, याददाश्त खोने से बचाना।

विटामिन B12  इसे कोबलामिन भी कहते है –    लाल रक्त कोशिकाओ और हीमोग्लोबिन का निर्माण।

क्या हमारे भोजन से हमे ये विटामिन मिलते है, इसे जानने के लिये हमे ये जानना जरूरी है की इन विटामिनो को प्राप्त करने के स्त्रोत क्या है। how to get all vitamins

विटामिन                      स्त्रोत

विटामिन A (इसे रेटिनोल भी कहते है)          दूध, अंडा, चीज, हरी सबजिया, फिश लिवर  ऑइल

विटामिन C (इसे एस्कॉर्बिक एसिड भी कहते है)   नींबू, संतरा, टमाटर, खट्टे पदार्थ, अंकुरित अनाज

विटामिन D (इसे कैल्सिफैरोल भी कहते है)       सनलाइट (सूरज की किरणे)

विटामिन E (इसे टोकोफैरोल भी कहते है)   दूध, मक्खन, अंकुरित गेंहू,पत्तेदार सब्जियां

विटामिन K                            टमाटर, पालक, हरी सबजिया, केल, सोयाबीन                                   ऑइल

विटामिन बी कॉम्प्लेक्स और उनको प्राप्त करने के स्त्रोत sources of vitamin b complex

विटामिन बी कॉम्प्लेक्स                स्त्रोत

विटामिन B1                                                            मूँगफली, दाले, लीवर, सब्जियां, अंडा

विटामिन B2                                                            मीट, हरी सब्जियां, दूध

विटामिन B3                                                            दूध, नट्स, मीट, टमाटर, गन्ना

विटामिन B5                                                            आलू, मूँगफली, टमाटर, पत्तेदार सब्जियां, मीट

विटामिन B6                                                            अनाज, लीवर, मीट

विटामिन B7                                                            दूध, अंडा, मीट, लीवर

विटामिन B9                                                            दाले, सब्जियां, अंडा, लीवर

विटामिन B12                                                          दूध, मीट

विटामिन की कमी से होने वाले रोग vitamin deficiency disease

विटामिन                      रोग

विटामिन A                                                   रंग दृष्टिहीनता, रात मे देखने मे परेशानी, सुखी                             त्वचा

विटामिन B1                                                 बेरीबेरी

विटामिन B2                                                 जीभ और त्वचा का फटना,                                                                        अरिबोफलाविनोसिस (ariboflavinosis)

विटामिन B3                                                  बालो का सफेद होना, मानसिक मंदता

विटामिन B5                               पैरेस्थीसिया

विटामिन B6                                                  अनिमिया, त्वचा रोग

विटामिन B7                                                   बालो का गिरना, लकवा मारना, शरीर मे दर्द

विटामिन B9                                                   अनिमिया, दस्त                 

विटामिन B12                                                 अनिमिया

विटामिन C                                                      स्कर्वी, मसूड़ो से खून बहना या सूजन आना,                                       कमजोरी, वजन घटना, सामान्य दर्द

विटामिन D                                                  रिकेट्स

विटामिन E                                                   प्रजनन क्षमता मे कमी

विटामिन K                                 रक्त का थक्का ना जमना, ऑस्टियोपोरोसिस

दोस्तो आधुनिक जीवन मे हमारे खान पान मे हो सकता है की ये सारे विटामिन शामिल ना हो और अगर ऐसा है तो इसके लिये आप विटामिन सप्लिमेंट्स का सहारा भी ले सकते है। जो आपको उचित मात्रा मे सभी विटामिन प्रदान कर दे। यह भी याद रखना जरूरी है की सभी विटामिन को लेने की एक उचित मात्रा होती है जिसके बारे मे हम अगले पोस्ट मे बात करेंगे। 

read other important informational articles in hindi 

क्या आपने सुना है केले के इन फायदो के बारे मे 

क्या आप जानते है यूरोप मे एक बारी फैली थी डांस की बीमारी

क्यो लगती है हमे प्यास

क्या? नारियल का पानी पीने से ये लाभ हो सकते है

Leave a Reply